Blogs Hub

by AskGif | Oct 16, 2019 | Category :यात्रा

Top Places to visit in Kallakurichi, Tamil Nadu

कल्लाकुरिची में देखने के लिए शीर्ष स्थान, तमिलनाडु

<p>कल्लाकुरिची भारत के तमिलनाडु राज्य में एक कस्बा है और तिरुवन्नामलाई क्षेत्र में कल्लाकुरिची जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। 2015 तक, शहर की आबादी 57,628 थी</p> <p>कल्लुकुरिची (तमिल: ளக்ak்சி்மாவட டம் )்) उन 37 जिलों में से एक है, जो भारत के दक्षिणी सिरे पर स्थित तमिलनाडु राज्य के हैं। जिला मुख्यालय कल्लाकुरिची में स्थित है। 8 जनवरी 2019 को कल्लुकुरिची जिला अस्तित्व में आया जब इसे विल्लुपुरम जिले से बाहर निकाला गया।</p> <p>&nbsp;</p> <p>पर्यटन</p> <p>कल्लकुरिची कलवारायण पहाड़ियों के करीब है। वेल्लिमलाई पहाड़ी के शिखर के पास बादलों की निकटता, मानसून के मौसम के दौरान स्थानीय लोगों के लिए एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। वेल्लिमलाई एक प्राचीन बेरोज़गार स्थान है। कलवारायण की पहाड़ियों की पहाड़ियों में और इनाडु में जलवायु के सर्द में बहुत सारे गाँव हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>गोमुखी बांध घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह है। कलवारी की पहाड़ियों में कई झरने हैं। पेरियार, मेगाम और कवियाम झरने बहुत प्रसिद्ध हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>कल्लाकुरिची तालुका सीताथुर गाँव श्री श्रीनिवास पेरुमल मंदिर में 20 मीटर ऊँची पहाड़ी है इस मंदिर में एक बड़ा अग्रभाग है जो केवल एक पत्थर 9 टन 14 फीट की ऊँचाई का है जिससे किसी का भी मेरे गाँव के मंदिर में आना जाना है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>पर्यटन और स्पॉट की सूची</p> <p>पेरियाकोलियूर शिव मंदिर (पेरियाकोलियूर) एमके</p> <p>शंकरापुरम के पास आंजनेयार मंदिर (रावुथानल्लूर)</p> <p>अलठुर शिवन मंदिर</p> <p>अलठूर झील</p> <p>मेगाम फॉल्स (कल्वारायण हिल्स)</p> <p>पेरियार फॉल्स (कलवारायण पहाड़ियां)</p> <p>गोमुखी बांध (कलवारायण पहाड़ियों का आधार)</p> <p>बोटिंग हाउस (कलवारयान हिल्स)</p> <p>कलवारायण पहाड़ियाँ - घाटी का दृश्य स्थान।</p> <p>सिरकुलर फ़ाल्स (कलवारायण पहाड़ियाँ)</p> <p>थियागादुरुगम पहाड़ियों</p> <p>श्री अर्धनारेश्वरार मंदिर (ऋषिवंद्यम)</p> <p>श्री रंगनाथस्वामी मंदिर (आदि तिरुवरंगम)</p> <p>श्री सुब्रमण्यस्वामी मंदिर (पसार पहाड़ियों पर)</p> <p>भगवान शिव मंदिर (पास की पहाड़ियों के पास)</p> <p>ठाकुर शिव मंदिर (निर्माणाधीन)</p> <p>श्री चिदंबरेश्वर मंदिर कत्त्यूदैयार</p> <p>श्री अर्थनाथेश्वर मंदिर (इलावनसूर या पिडगाम)</p> <p>आरुमुगम मुरुगन मंदिर (एस.कुलथुर)</p> <p>श्री.मुथुमार्यमन मंदिर (पूताई)</p> <p>भगवान विष्णु मंदिर (तिरुवरंगम)</p> <p>भगवान सदैय्यपर मंदिर (टोपुर / एर्विपट्टिनम)</p> <p>गोमुकी रेवर (टोपुर / एर्विपट्टिनम)</p> <p>सरकारी चीनी मिल (ervaipattinam)</p> <p>श्री विरुधगिरि मंदिर (कारदीचिथुर)</p> <p>कन्नियामन मंदिर (कारदीचिथुर)</p> <p>तियागपदी अम्मा कोविल (गोमुकी बांध)</p> <p>पेरियार फॉल्स (कलवारयान हिल्स)</p> <p>कावियम फ़ाल्स (कलवारयान पहाड़ियाँ)</p> <p>सेतुवरायण कुप्पम (सोकनाथार मंदिर)</p> <p>Manimutharu</p> <p>मालाकोट्टलम (मुरुगर मंदिर और पास की पहाड़ियाँ)</p> <p>थेकेरनूर (भगवान शिव मंदिर)</p> <p>श्री श्रीनिवास पेरुमल मंदिर (सीथथुर)</p> <p>&nbsp;</p> <p>जनसांख्यिकी</p> <p>2011 की जनगणना के अनुसार, कल्लक्कुरिची की जनसंख्या 52,507 थी, जिसका लिंगानुपात हर 1,000 पुरुषों पर 984 महिलाओं का था, जो 929 के राष्ट्रीय औसत से बहुत अधिक है। 6,5 से कम उम्र के कुल 5,541 पुरुष थे, जिसमें 2,914 पुरुष और 2,627 महिलाएँ थीं। अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों की जनसंख्या क्रमशः 15.49% और .27% थी। 72.99% की राष्ट्रीय औसत की तुलना में शहर की औसत साक्षरता 77.08% थी। इस शहर में कुल 12801 घर थे। कुल 19,013 श्रमिक थे, जिनमें 471 कृषक, 840 मुख्य खेतिहर मजदूर, 537 हाउस होल्ड इंडस्ट्रीज, 14,673 अन्य श्रमिक, 2,492 सीमांत श्रमिक, 33 सीमांत कृषक, 414 सीमांत कृषक मजदूर, घरेलू उद्योगों में 102 सीमांत श्रमिक और 1,943 अन्य सीमांत श्रमिक शामिल थे। कर्मी। 2011 की धार्मिक जनगणना के अनुसार, कल्लाकुरिची में 83.87% हिंदू, 13.4% मुस्लिम, 1.72% ईसाई, 0.04% सिख, 0.02% बौद्ध, 0.17% जैन, 0.71% अन्य धर्मों का पालन कर रहे हैं और 0.08% किसी धर्म का पालन नहीं कर रहे हैं या किसी भी धर्म का संकेत नहीं दिया है। धार्मिक प्राथमिकता।</p> <p>&nbsp;</p> <p>जलवायु</p> <p>जलवायु मध्यम है, अधिकतम तापमान 38 &deg; C और न्यूनतम 21 &deg; C है। शहर में सर्दियों के महीनों के दौरान पूर्वोत्तर मानसून और गर्मियों के महीनों के दौरान दक्षिण-पश्चिम मानसून से वर्षा होती है। 1,070 मिमी औसत वार्षिक वर्षा है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>पृष्ठभूमि</p> <p>1960 से पहले, कल्लाकुरिची को एक गाँव माना जाता था। उस वर्ष, कल्लाकुरिची नगर पंचायत बन गया, फिर बाद में विशेष ग्रेड टाउन पंचायत में अपग्रेड किया गया। 20 अक्टूबर 2004 को इसे थर्ड ग्रेड म्युनिसिपैलिटी में अपग्रेड किया गया। बाद में, 7 सितंबर 2010 को, इस नगरपालिका को फर्स्ट ग्रेड नगरपालिका में अपग्रेड किया गया और 8 जनवरी को 2019 के वर्ष में, विलुपुरम को द्विभाजित करके कल्लाकुरिची को तमिलनाडु के 33 वें जिले के रूप में घोषित किया गया। इस नगरपालिका का क्षेत्र 11.69 किमी 2 है जिसे 21 वार्डों में विभाजित किया गया है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>स्रोत: https://en.wikipedia.org/wiki/Kallakurichi</p>

read more...