Blogs Hub

by AskGif | Oct 04, 2019 | Category :यात्रा

Top Places to visit in Fatehgarh Sahib, Punjab

फतेहगढ़ साहिब में देखने के लिए शीर्ष स्थान, पंजाब

<p>फतेहगढ़ साहिब एक कस्बा और उत्तर पश्चिम भारतीय राज्य पंजाब में सिख धर्म का एक पवित्र तीर्थ स्थल है। यह फतेहगढ़ साहिब जिले का मुख्यालय है, जो सरहिंद से लगभग 5 किलोमीटर (3.1 मील) उत्तर में स्थित है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>फतेहगढ़ साहिब का नाम फतेह सिंह के नाम पर रखा गया है, जो गुरु गोबिंद सिंह के 7 साल के बेटे हैं, जिन्हें मुगल सेना द्वारा उनके 9 साल के भाई जोरावर सिंह के साथ मुगल सेना द्वारा चल रहे मुस्लिम-सिख के आदेशों के तहत जब्त कर लिया गया था और जिंदा दफन कर दिया गया था। 18 वीं शताब्दी की शुरुआत में युद्ध। 1705 में सिखों और मुस्लिम शासकों के बीच बार-बार परिवर्तन के साथ, इस शहर को बेटों की शहादत के बाद बड़ी ऐतिहासिक घटनाओं का अनुभव हुआ।</p> <p>&nbsp;</p> <p>शहर में ऐतिहासिक गुरुद्वारे हैं, जिनमें भूमिगत भोरा साहिब भी शामिल है, जहां उस स्थान को चिह्नित किया गया है, जहां दोनों लड़कों ने इस्लाम में परिवर्तित होने से इनकार कर दिया था और निर्भय होकर जिंदा ईंट मारने की बात स्वीकार की थी। समकालीन समय में, शहर शैक्षिक संस्थानों की जगह है जैसे एसजीपीसी गुरु ग्रंथ साहिब विश्वविद्यालय और बाबा बंदा सिंह बहादुर इंजीनियरिंग कॉलेज चलाते हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>त्यौहार और मेले</p> <p>हर साल 11 वें और 14 वें महीने के बीच (आमतौर पर लगभग 25 से 27 दिसंबर) फतेहगढ़ साहिब कई सिखों का तीर्थ स्थल होता है, जो गुरु गोबिंद सिंह के बेटों की शहीदी जयंती के रूप में स्थानीय रूप से शहीद की याद में यह यात्रा करते हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>टोडर मल हवेली</p> <p>टोडर मल, जिन्हें गुरु गोबिंद सिंह और उनकी माँ के युवा शहीद पुत्रों के दाह संस्कार की व्यवस्था करके मुगलों को बदनाम करने के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता है, की एक हवेली थी जो आज भी मौजूद है, टोडर माल हवेली।</p> <p>&nbsp;</p> <p>पर्यटक स्थल</p> <p>&nbsp;</p> <p>संघोल संग्रहालय।</p> <p>संघोल संग्रहालय</p> <p>यह हड़प्पा संस्कृति का एक प्राचीन स्थल है और इसका रखरखाव भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किया जा रहा है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>फ्लोटिंग रेस्ट्रेंट।</p> <p>फ्लोटिंग रेस्तरां</p> <p>सरहिंद नहर के ऊपर बनाया गया फ्लोटिंग रेस्तरां दपंजाब पर्यटन विकास निगम द्वारा संचालित एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>आम खाम बाग</p> <p>आम खा बाग</p> <p>आम खा बाग को जनता के लिए और सम्राट शाहजहाँ के अनन्य उपयोग के लिए भी बनाया गया था।</p> <p>&nbsp;</p> <p>गुरुद्वारा फतेहगढ़ साहिब।</p> <p>गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब</p> <p>गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब गुरु गोबिंद सिंह के छोटे बेटों की महान शहादत को समर्पित है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>मंदिर माता श्री चक्रेश्वरी देवी जी।</p> <p>माता चक्रेश्वरी मंदिर</p> <p>यह प्राचीन मंदिर 1000 साल पुराना माना जाता है और सरहिंद-चंडीगढ़ रोड पर अटेली गांव में स्थित है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>केले का पेड़।</p> <p>केले का पेड़</p> <p>जिला फतेहगढ़ साहिब में देश का सबसे बड़ा बरगद का पेड़ है या हम दुनिया में कह सकते हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>अन्य स्थान।</p> <p>अन्य दर्शनीय स्थल</p> <p>उस्ताद दी मजार शागिर्द दी मजार नबीस मकबरा पीतल हवेली टोडर मल</p> <p>&nbsp;</p> <p>रौजा शरीफ फतेहगढ़ साहिब</p> <p>श्री रौजा शरीफ फतेहगढ़ साहिब</p> <p>सरहिंद-बस्सी पठाना रोड पर, गुरुद्वारा फतेहगढ़ साहिब के पास शेख अहमद फारुकी सिरहिंदी का शानदार RAUZA या दरगाह है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>गुरुद्वारा श्री ज्योति सरूप साहिब।</p> <p>गुरुद्वारा ज्योति सरूप</p> <p>यह गुरुद्वारा ऐसी जगह पर स्थित है, जहाँ गुरु गोबिंद की माँ, माता गुजरी का शव गृह बना हुआ है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>source: https://en.wikipedia.org/wiki/Fatehgarh_Sahib</p>

read more...