Blogs Hub

by AskGif | Apr 19, 2019 | Category :यात्रा

Top Places to visit in Dhubri, Assam

धुबरी में देखने के लिए शीर्ष स्थान, असम

<p>धुबरी (Pron: ʊdhʊbri) (असमिया: is) धुबरी जिले (असम) का मुख्यालय भारत है। यह ऐतिहासिक महत्व के साथ, ब्रह्मपुत्र नदी के तट पर एक पुराना शहर है। 1883 में, ब्रिटिश शासन के तहत पहली बार नगरपालिका बोर्ड के रूप में शहर का गठन किया गया था। यह असम की राज्य की राजधानी दिसपुर से लगभग 277.4 किलोमीटर (172 मील) पश्चिम में स्थित है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>धुबरी जिला (Pron: ˈdʊbri) भारतीय राज्य असम में एक प्रशासनिक जिला है। जिला मुख्यालय धुबरी शहर में स्थित है जो राज्य की राजधानी गुवाहाटी से ~ 290 किलोमीटर दूर स्थित है। यह पूर्ववर्ती अविभाजित गोलपारा जिले का मुख्यालय भी था, जिसे 1876 में ब्रिटिश सरकार ने बनाया था। 1983 में, गोलपारा जिले को चार जिलों में विभाजित किया गया था और धुबरी उनमें से एक है। धुबरी जिला असम के कई मुस्लिम अधिकांश जिलों में से एक है। धुबरी में लगभग 75% आबादी मुस्लिम है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>2011 तक यह नागांव के बाद असम (27 में से) का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला जिला है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>प्रभागों</p> <p>वर्तमान में दो उप-विभाग हैं:</p> <p>&nbsp;</p> <p>धुबरी (सदर)</p> <p>Bilasipara</p> <p>जिले में 8 राजस्व मंडल और 7 तहसील हैं। इसमें 8 पुलिस स्टेशन और 4 बुनियादी शहर हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>इस जिले में पाँच असम विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र हैं: धुबरी, गौरीपुर, गोलाकगंज, बिलासिपारा पश्चिम, और बिलासीपारा पूर्व। सभी पांचों धुबरी लोकसभा क्षेत्र में हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>धुबरी एक महत्वपूर्ण व्यावसायिक केंद्र था और विशेष रूप से जूट के लिए एक व्यस्त नदी बंदरगाह था। धुबरी को "नदियों की भूमि" कहा जाता है क्योंकि यह ब्रह्मपुत्र और गदाधर नदियों द्वारा तीन तरफ से कवर किया जाता है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>शैक्षिक संस्थान</p> <p>कॉलेज</p> <p>&nbsp;</p> <p>धुबरी में भोला नाथ कॉलेज</p> <p>&nbsp;</p> <p>CATS धुबरी (लैब)</p> <p>भोलानाथ कॉलेज या B. N. College (1946 में स्थापित) पश्चिमी असम का सबसे पुराना और प्रमुख कॉलेज है।</p> <p>धुबरी लॉ कॉलेज</p> <p>धुबरी गर्ल्स कॉलेज</p> <p>धुबरी बी। एड कॉलेज</p> <p>धुबरी मेडिकल कॉलेज</p> <p>अजमल कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंस</p> <p>ग्रीनफील्ड जूनियर कॉलेज धुबरी</p> <p>रॉयल पब्लिक जूनियर कॉलेज</p> <p>धुबरी कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंस</p> <p>एलीट एकेडमी, हाटसिंगमारी</p> <p>हमीदाबाद कॉलेज</p> <p>हत्सिंगमारी जूनियर कॉलेज</p> <p>हात्सिंगमारी कॉलेज, हाटसिंगमारी</p> <p>नमोनि क्षोम जाति विधायलय, हत्सिंगिमारी</p> <p>चिल्लराई कॉलेज</p> <p>बिराट नगर जूनियर कॉलेज</p> <p>बिलासीपारा कॉलेज</p> <p>पी। बी कॉलेज</p> <p>स्कूल</p> <p>बिद्यापारा बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल, धुबरी</p> <p>गवर्नमेंट बॉयज़ हायर सेकेंडरी स्कूल</p> <p>सीशू पथसला उच्चतर माध्यमिक विद्यालय</p> <p>शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय</p> <p>विवेकानंद विद्यापीठ</p> <p>धुबरी म्युनिसिपल हाई स्कूल</p> <p>जवाहर हिंदी हाई स्कूल</p> <p>शंकरदेव शिशु बिद्या निकेतन, धुबरी</p> <p>बिद्यापारा गर्ल्स हाई स्कूल</p> <p>एस.पी. इंग्लिश मीडियम हाई स्कूल</p> <p>हैप्पी कॉन्वेंट स्कूल</p> <p>सेंट अगस्त्य स्कूल</p> <p>बेथेल बैपटिस्ट मिशन स्कूल</p> <p>पैराडाइज कॉन्वेंट स्कूल</p> <p>एलीट एकेडमी, हाटसिंगमारी</p> <p>128 नं। बिद्यापारा एलपी स्कूल</p> <p>जमादारहाट जनता उच्चतर माध्यमिक विद्यालय</p> <p>रसराज जाति विद्या</p> <p>धुबरी जाति विदालया</p> <p>ब्रह्मपुत्र जाति विद्यालय</p> <p>धापी धापी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय</p> <p>बालाजान उच्चतर माध्यमिक विद्यालय</p> <p>किस्मत हसदा हाई स्कूल</p> <p>जगमोहन विद्यापीठ</p> <p>संस्कृति और त्योहार</p> <p>गुरु तेग बहादुर की शहादत को चिह्नित करने के लिए हर साल दिसंबर के महीने में 50,000 से अधिक हिंदू, सिख और मुस्लिम इस ऐतिहासिक मंदिर में इकट्ठा होते हैं, जो 3 दिसंबर को बड़े ही धूमधाम और समारोह के साथ शुरू होता है। सिख सहदेव-गुरु-पर्व की सप्ताह भर की श्रद्धा को कहते हैं, जिसे एक विशाल जुलूस के रूप में चिह्नित किया जाता है। इस प्रकार गुरु तेग बहादुर ने "हिंद-दी-चादर" का स्नेह शीर्षक या हिंद का शील्ड हिंदुस्तान वापस मिल गया।</p> <p>&nbsp;</p> <p>संस्कृति</p> <p>टेराकोटा और पॉटरी शिल्प</p> <p>असम के धुबरी जिले ने दुनिया के टेराकोटा बाजार में एक महत्वपूर्ण स्थान पर कब्जा कर लिया है। असमिया टेराकोटा कला और संस्कृति ने धुबरी जिले के गौरीपुर शहर के पास एक छोटे से गाँव अशिरकंडी में जन्म लिया। इस शिल्प गांव के 80% से अधिक परिवार इस जातीय आधारित कला (हस्तकला) में लगे हुए हैं और राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में इन टेराकोटा उत्पादों को बेचने के बाद अपना जीवन गुजारते हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>रुचि के स्थान</p> <p>धुबरी जिले के प्रमुख स्थानों में गुरुद्वारा श्री गुरु तेग बहादुर साहिब, महामाया धाम, रंगमती या पनबारी मस्जिद, भारत के पूरे उत्तर पूर्व क्षेत्र की सबसे पुरानी मस्जिद, चक्रवर्ती वन्यजीव अभयारण्य, फ्लोरिकन गार्डन और पंचपीर दरगाह शामिल हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>यह स्थान सिख गुरुद्वारा अर्थात् गुरुद्वारा दमदमा साहिब या थारा साहिब के लिए प्रसिद्ध है, जिसका निर्माण पहले सिख गुरु नानक देव (पंजाबी: ਗੁਰੂ ਨਾਨਕ, हिंदी, गुरु नानक, उर्दू: گرونانک गुरु नानक) की यात्रा के बाद किया गया था और बाद में इसका अनुसरण किया गया। नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर (पंजाबी: ਗਗਰਤ ਗਗਗਗ ਬ ,ਾ guruਰ, हिंदी: गुरू तेगबाग) की यात्रा और गुरुद्वारा का नाम गुरुद्वारा श्री गुरु तेग बहादुर साहिब के नाम पर रखा गया है। इसलिए, सिख समुदाय के लिए इसका बहुत महत्व है।</p> <p>&nbsp;</p> <p>धुबरी जिले के मुख्य शहर धुबरी, गौरीपुर, बिलासिपारा, गोलाकगंज, ताम्रहट, सापत्रग्राम, चापर, हाटसिंगमारी, मनकाचर, अगोमनी आदि हैं।</p> <p>&nbsp;</p> <p>source: https://en.wikipedia.org/wiki/Dhubri_district</p>

read more...